मेरे प्यारे नाना और मेरी प्यारी नानी!

By Bharti Arora
Jul 06 2019 1 min read

मेरे प्यारे नाना और मेरी प्यारी नानी! यह है मेरी अब तक की जिंदगी की एक छोटी सी कहानी, जिसमें कुछ नहीं है, बिना मेरे नाना और बिना मेरी नानी। सबके लिए तो होते नहीं है ये दो जन इतने करीब... पर मेरे लिए तो ये दोनों हैं, मेरे सबसे अच्छे हबीब। पैदा तो मम्मी-पापा ने किया पर मेरी जिंदगी के पहले पल बीते इनके साथ है, मेरी हर कामयाबी के पीछे इनकी ही हौसला- अफजाई का सबसे बड़ा हाथ है। मेरा बात-बात पर घबराना, करा है इन्होंने ही छूमंतर! मेरी आव

6 Reads
 7 Likes
Report

 

Reviews:

 

Very good
Aww.. such a sweet poem..heart touching