देर से

By Twinkle Saloni
Mar 11 2019 1 min read

देर सेहा इस बार भी सवालों के भवर में हूं,सवाल उस वक़्त से है, इस बार देर क्यू?इस बार किस्मत के लकीरों ने ,तेरे ही दरवाज़े पे दस्तक क्यू दी।लकीरों के पिछे चलते चलते,मैं तुझ तक पहुंच भी।ये जान ने के लिए इस बार मेरी किस्मत ने क्या किया है,प्यार दिया या दर्द मुझे।ये किस्मत ही है, जिसने मुझे तेरे नाम से नफ़रत करवाई,उसी नाम से अब मैं सबसे ज्यादा करीब हूं।फिर क्यू इस बार वक़्त ने देर की,मैं तुमसे मिली तो जरुर पर,दिल नहीं मिले हमार

0 Reads
 0 Likes
Report