क्लास के वो दिन।

By Sheelu Jha
Oct 09 2019 1 min read

क्लास का वो पहला दिन।  ना किसी से जान, ना पहचान।  सब एक दूसरे से अंजान।  कुछ तो बन जाते हैं एक दूसरे के जान।  फिर कुछ ऐसा आता अंजाम।  बिना बात किये नहीं बनता कोई काम।  बिना बताये कोई बात दिन गुजरना नहीं होता आसान। 

2 Reads
 2 Likes
Report