उनके कुर्बत से गुजरने कि

By Mukesh Negi
Sep 22 2020 1 min read

  उनके कुर्बत से गुजरने की हमारी मजाल नही होती हर बहकने वालों की सूरत इतनी कमाल नही होती ये कहना दुश्वार नही कि इश्क निकम्मा कर देता है मगर हर किसी कि तक़दीर इश़्क में बेमिसाल नही होती।। मुखालिफ़ बना है जमाना आज इश्कवालों का मुकर्रर हर किसी की जिंदगी जमाल नही होती।। कितनी जहालत कर बैठे हम एक तरफा मोहब्बत की तनहाई में जीकर भी जिंदगी खुशहाल नही होती।। हाय, नफ़रतजद़ा है जालिमों का होना दुनियां में आदमिय़त से सख़्त कोई भ

12 Reads
 1 Likes
Report