आरक्षण

By Aman Aditya
Oct 09 2019 1 min read

एक समाज के तौर पर आखिर हम किस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं ? आरक्षण, जिसे हमे समाज के तौर पर सबको एक साथ लाना था, आज वही आरक्षण हमे अलग करने जा रहा है! जब इसे संविधान में लिखा गया उस वक़्त हम मानवता के विचार से बहुत पिछड़े थे लेकिन आज नही ! आज आरक्षण की हमारे देश को कोई जरूरत नहीं है, आज सभी जाति केे लोग लगभग सक्षम है सभी सुविधाओं को प्राप्त करने के लिए, देेश में छुआ-छुत जैसी कोई बुराई नहीं रही तो आरक्षण की क्या जरूरत ? जो लोग सक्षम नहीं भी

0 Reads
 7 Likes
Report