अभी तो बहुत कुछ सीखना है मेरी दोस्त

By Ayush Devra
Apr 08 2019 1 min read

अभी तो हमे बहुत कुछ सीखना है, मेरी दोस्त ।।अभी तो हमे बहुत दूर जाना है,समंदरो को करना है पार,पहाड़ों की करनी है चड़ाई,और चांद पे भी जाना है घूमने ,हमे प्यार की लिखनी है नई परिभषाएंहमे समाज की रुदीवादी सोच को देनी है चुनौतीहमे अंबेडकर और मार्क्स की किताबो को करना है खत्म,और हमें जल वायु परिवर्तन को रोकने के लिए खुद को झोंक देना है,सावन की पहेली बारिश में नाचना है,दिसंबर की ठिठुरती रातों में लकड़ियां जलाकर तापनी है आग,जून के ग

0 Reads
 0 Likes
Report